Ads Right Header

PopAds.net - The Best Popunder Adnetwork

sali ki seal todi jija ne साली की सील तोड़ी एक ही रात में

sali ki seal todi jija ne

साली की सील तोड़ी एक ही रात में


हेल्लो दोस्तों आपको संजीव का प्यार भरा नमस्कार, मेरी शादी हुए  6 महीने ही हुए है, और मेरी पत्नी की तबियत कुछ ठीक नहीं है इस कारण से मेरी दो साली  देखभाल करने के लिए उदयपुर से जयपुर आयी है, मैं कल ही अपने पत्नी को नर्शिंग होम में भर्ती करवा के आया हु, डॉक्टर ने कहा की अभी दो दिन लगेगा, चिंता की कोई बात नहीं है, तो मेरी सास मेरी पत्नी के पास ही रुक गयी और रात को मैं अपने फ्लैट पे आ गया सोने के लिए.

रात को करीब 10 बजे जब घर आया तो मेरी दोनों साली बैठ के टीवी देख रही थी, फिर हम तीनो बाहर जाके चिकेन तंदूरी और रोटी खाकर वापस घर आये, बड़ी साली मेरी सोने चली गयी और छोटी साली जो 18 साल की है हम दोनों टीवी पे पिके सिनेमा आमिर खान का आ रहा था वही देखने लगे, लम्बे सोफे पे मेरी साली पेट के बल सो के देख रही थी टीवी सो उसका दोनों चूचियाँ दब के बाहर निकल रही थी, मैं करीब 10-12 मिनट से देख रहा था मेरी साली है भी बड़ी ही खूबसूरत होठ एकदम गुलाबी, भरा पूरा शरीर गांड मस्त उभरी हुआ, लम्बे-लम्बे बाल,एकदम गोरी, वो इस रूप में कातिल हसीना लग रही थी.
आप यह कहानी desi kahani पर पढ़ रहें
मूवी खत्म हुआ और हम दोनों सोने के लिए तैयार होने लगे, तो साली जाते जाते मजाक में बोल गयी जीजाजी आपने दीदी के साथ क्या किया की आज वो इस हालात में है, मैंने भी वैसे ही रिप्लाई कर दिया की मैंने आपके दीदी को रोज रात को चुदाई करता था इस्सवजह से इस हालात में है, वो झेप गयी और शर्म से बोली छी आपको ऐसी बात कहते शर्म नहीं आती है, मैंने कहा जब पूछने बाले को शर्म ही नहीं तो मुझे क्यों शर्म होनी चाहिए, तो मेरी साली बोली मैं अगर दीदी के जगह पे होती तो एक साल तक छूने ही नहीं देती, तो मैंने कहा फिर मैं आपको जबरदस्ती चुदाई कर देता, तो साली बोली आपने इतनी हिम्मत कहा की मुझे पकड़ पाते अभी भी मैं चैलेंज करती हूँ कि आप मुझे नहीं पकड़ पाओगे, मैंने कहा ऐसी बात फिर देखो, वो इधर उधर भागने लगी, और मैंने उसको पकड़ने के लिए दौड़ता रहा, मेरा ड्राइंग रूम फूटबाल का मैदान बन गया था कभी वो सोफे के पीछे तो कभी फ्रीज़ के पीछे मुझे छका रहा थी और वो भागकर बैडरूम में चली गयी, और दरवाजा अंदर से बंद करने लगी मैं बाहर से खोलने के लिए जोर लगा रहा था और वो अंदर से बंद करने के लिए जोर लगा रही थी. इसी तरह मैंने धक्का लगाया और अंदर चला गया.
sali ki seal todi
फिर उसको बेड पे पटककर मैंने उसको बस में कर लिया तो मुस्करा के बोली बस इससे क्या होता, मैंने कहा अच्छा जी लो अब बताओ, और मैंने हाथ को दबा के उसको गाल पे होठ पे किश करने लगा वो अंदर कसमसा रही थी पर मैं कास के जकड़ा हुआ था, फिर वो बोली इससे कुछ भी क्या होता, फिर मैंने उसकी चूचियों पे हाथ रख दिया, वो सीरियस हो गयी, बोली जीजू ये गलत बात है मैं हाथ नहीं हटाया, वो विरोध भी नहीं कर रही थी, मैंने उसको ढीला छोड़ दिया और चूचियों पर से हाथ नहीं हटाया, वो बोलने लगी दीदी जग जाएगी क्या सोचेगी, ये गलत बात है, मैंने कहा कोई गलत बात नहीं है मैं आपको जबरदस्ती नहीं करूंगा, अगर मन हो तो आज की रात रंगीन हो सकती है.
desikahani.xyz
वो कुछ भी नहीं बोली, मैं समझ गया उसे आज लंड चखने का दिल कर रहा है, मैंने स्तन दबाना और चुम्मन करने लगा, वो मदहोश होने लगी, उसकी आँखे लाल होने लगी और होठ बार बात जीभ से चाट रही थी, मैं उसके होठ को चूसना सुरु किया वो मेरे बनियान को खोलने लगी, और खोल के बेड से निचे फ़ेंक दी, मैंने उसके टी शर्ट को उतार दिया वो अंदर पिंक ब्रा पहनी हुई थी, मैंने ब्रा को ढीला कर दिया पीछे से हुक खोल के मेरे सामने दो बड़ी बड़ी चूचियाँ मेरे मुंह बिलकुल सामने थे, मैंने चुचियों को दबाना शुरू किया और निप्पल जो गुलाब के ब्रेड की तरह था. मैंने अपने दोनों होठ से पकड़ के दबाने लगा वो सेक्सी आवाज़ निकालने लगी, वो मदहोश होने लगी . मैंने फिर उसके जीन्स के ज़िप को खोला वो थोड़ा अपना चूतड़ थोडा ऊपर उठाया और मैंने जीन्स पैरो से निकाल दिया, वो पिंक कलर को पेंटी पहने  बड़ी ही सुन्दर लग रही थी, मैंने ऊपर से चूत के ऊपर हाथ फेरा वो कांप गयी मैं समझ गया वो बिल्कुल कुंवारी है क्यों की मेरे हर बार छूने पर वो सिहर रही थी उसे शर्म भी आ रही थी पर पर क्या करे. काम वासना की आग लग चुकी थी उसे मैं भी बुझा सकता था.
kuwari sali ki choot fadi
मैंने उसके पेंटी को खोल दिया और उसका तांग उठा कर और फैलाकर जीभ से चूत को जोर से चाटने लगा फिर अपने जीभ को चूत में घुसाने का प्रयास करने लगा, पर उसका चूत काफी टाइट था, उन्होंने कहा जीजू अब देर मत करो मेरी चूत की प्यास बुझाओ अब  मत तड़पाओ प्लीज मैंने अपना नौ इंच का लंड अंडरबियर में से निकाला और चूत के गुलाबी सुराख़ पर  रख के जोर से धक्का लगाया वो चिल्ला उठी, उसकी चीख से मेरी बड़ी साली जो दूसरे कमरे में सोई थी जाग गयी और दौड़कर कमरे में आ गयी, पर यहाँ का माजरा कुछ और ही था, फिर वो तुरंत ही चली गयी, मैं अपना ४ इंच लंड चूत में घुसा चुका था, फिर दूसरे झटके ने उसके चूत के आखिरी छोर तक पहुंच गया, वो तड़प उठी मैंने उसके आंशू पोछे और धीरे धीरे झटके देकर चोदना शुरू किया और करीब 10 मिनट बाद चुदाई सुरु हो गयी वो भी अपना गांड उठा-उठा के चुदवाने लगी, मैंने अपने लंड को जोर जोर से धक्के देना सुरु कर दिया, वो भी पूरा हेल्प कर रही थी मैंने फिर उसके हाथ को ऊपर तकिये पे उठा दिया और उसके कांख के बाल को चाटने लगा और दोनों हाथ से चूच को दबाने लगा वो पागल की तरह हो गयी और कहने लगी जोर से जोर से जीजू जोर से प्लीज जोर से, कस के कस के और कस के, मेरा दूध पीओ प्लीज मैं धक्के पे धक्का लगाने लगा और दोनों एक साथ झड़ गए, करीब १० मिनट का वैसे ही पड़े रहे फिर नार्मल होक दूसरे कमरे में पहुंचे की पता नहीं मेरी बड़ी साली क्या सोच रही होगी मेरी छोटी साली तो निढाल होके सो गयी, जब मैं दूसरे कमरे में पहुंचा तो देखा मेरी साली एक साथ से अपने स्कर्ट के निचे और एक हाथ से अपनी चूची को दबा रही थी, मई जैसे ही अंदर गया वो बोल उठी मुझे भी चाहिए
.मैंने आलमारी से एक काम शक्ति का टेबलेट निकाला और खाके उसको किश करने लगा करीब पांच मिनट में ही पहले से ज्यादा तैयार हो गया और अपने बड़ी साली की चुदाई करने लगा, मैंने उसको भी उसी तरह से संतुष्ट किया और दोनों एक उसकी कमरे में आ गए जहा पे छोटी साली सोई थी मैं बीच में और दोनों तरफ  मेरी सालियां सो गए. आशा करता हु की आपको मेरी ये कहानी अच्छी लगी होगी. फेसबुक पे शेयर करे प्लीजआप उस दिन का माजरा सोचिये मैं जन्नत में था, आपको भी ऐसा मौक़ा मिले यही मेरी शुभकामनाये सहित कहानी यही समाप्त करता हु
ये भी नयी कहानी पढ़े

bhai ne chhoti bahan ki seal todi

Previous article
Next article
This Is The Oldest Page

Leave Comments

Post a comment

Ads Atas Artikel

Ads Tengah Artikel 1

Ads Tengah Artikel 2

Ads Bawah Artikel